February 1, 2023
Janta Now
Kanpur : कानपुर में तीन मंदिरो को हटाने का नोटिस , हिंदूवादी संगठन और सरकार आमने-सामने
Otherउत्तर प्रदेशजिलादेशदेश - दुनियाधर्मराजनीतिराज्य

Kanpur : कानपुर में तीन मंदिरो को हटाने का नोटिस , हिंदूवादी संगठन और सरकार आमने-सामने

फॉलो करे

 

कानपुर :- जहांगीरपुरी में अतिक्रमण पर कार्रवाई के बाद अब यूपी के कानपुर में भी तीन मंदिरों को हटाने के नोटिस के बाद मामला गरमा गया है। आपको बता दें कि कानपुर के कंपनी बाग रोड पर स्थित हनुमान मंदिर ,शनि देव मंदिर और शिव मंदिर अपार कानपुर म्युनिसिपल कॉरपोरेशन ने नोटिस चस्पा किए हुए हैं मूर्तियों को इस स्थान से हटा कर कहीं और स्थापित करने के लिए 3 दिन का वक्त दिया गया है।

कानपुर महानगर में नगर निगम ने तीन मंदिरो को अवैध अतिक्रमण मानते हुए हटाने के लिए नोटिस चस्पा किए हुए हैं। नोटिस चस्पा होने के बाद ही बहुत बड़ा विवाद खड़ा हो गया है। कंपनी बाग स्थित उपरोक्त तीनों मंदिरों को लेकर आयकर विभाग कॉलोनी की तरफ से नगर निगम में शिकायत दर्ज कराई गई थी जिसके बाद नगर निगम के जोनल अधिकारियों ने जांच में तीनों मंदिरों को अवैध अतिक्रमण फुटपाथ पर बना हुआ पाया जिसके बाद नगर निगम ने कार्रवाई करते हुए इन तीनों मंदिरों को 3 दिन के अंदर हटाने का फरमान जारी कर नोटिस चस्पा किए हुए।

नगर निगम के द्वारा आयकर आयुक्त उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड द्वारा की गई शिकायत का हवाला देते हुए नगर निगम ने नोटिस चस्पा किए हैं इसमें बताया गया है कि लक्ष्मण बाग इनकम टैक्स कॉलोनी के बाहर अवैध अतिक्रमण करके मंदिर का निर्माण कराया गया है। नोटिस चस्पा होते ही हिंदूवादी संगठनों के कार्यकर्ताओं ने जमीन आसमान एक कर दिया है वह कह रहे हैं कि अगर मंदिर अतिक्रमण है तब भी नहीं हटना चाहिए।

मंदिर के पुजारी क्या कह रहे हैं ?

एक निजी चैनल के पत्रकार ने मंदिर के पुजारी अर्जुन पंडित से बात की । अर्जुन पंडित की मानें तो मंदिर 25 वर्षों से बना हुआ है कभी भी कोई विवाद नहीं हुआ। लेकिन इस सरकार में मंदिर तोड़ने की बात की जा रही है। इन मंदिर की देखरेख करने वालों का कहना है कि मंदिर की वजह से किसी का कार्य अभी तक बाधित नहीं हो रहा। हिंदूवादी संगठनों ने नगर निगम की इस कार्रवाई का खुलकर विरोध करना शुरू कर दिया है। स्थानीय लोगों का कहना है कि मंदिर को कैसे तोड़ा जा सकता है। मंदिर यही रहेगा वहीं इस मामले में मेयर प्रमिला पांडे भी हिंदूवादी संगठनों के साथ खड़ी नजर आ रही हैं ।

वहीं नगर निगम के नोटिस पर मचे हड़कंप के बीच नगर आयुक्त के मुताबिक उन्हें इस विषय पर कोई जानकारी नहीं है। मामले में जोनल अधिकारी 4 पूजा त्रिपाठी ने बताया गया मंदिर की आड़ में अवैध निर्माण लगातार किए जा रहे हैं । एक कमरा बनाकर कई लोग उस में रह रहे कुछ अराजक तत्व भी आयकर कॉलोनी में हंगामा करते हैं। इसकी शिकायत नगर आयुक्त से मिलकर आयकर विभाग कमिश्नर ने की थी । जांच प्रक्रिया के बाद अवैध निर्माण हटाने के लिए नोटिस चस्पा किया गया है । हालांकि इस बीच एक सच्चाई भी सामने आई है कि कानपुर में कितने अवैध मंदिर और मस्जिद बने हुए हैं इसका किसी भी प्रकार का कोई डेटा नगर निगम के पास मौजूद नहीं है। 

Related posts

घर पर अकेली बहन को चचेरे भाई ने बाथरूम में ले जाकर…

jantanow

विश्वविख्यात जैन तीर्थ बड़ागांव में मनाया गया पार्श्वनाथ निर्वाण महोत्सव

jantanow

पाबला गांव में हुआ जय बाबा बस्ती वाले का भव्य जागरण और भण्ड़ारा

jantanow

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के पूर्व जीएम ने की प्राचीन पक्का घाट मंदिर में पूजा-अर्चना

jantanow

शादी में भाई ने भरा 35 लाख रुपए का भात, बैलगाड़ी में लेकर पहुंचे भात भरने

jantanow

बागपत में फीस्ट डे ऑफ सेंट जोसेफ द वर्कर पर हुई विशेष प्रार्थना सभाएं

jantanow

Leave a Comment