Janta Now
बागेश्वर मंदिर बागपत में चल रहे रामायण पाठ का पूर्णिमा को होगा समापन
Otherउत्तर प्रदेशजिलादेशधर्मबागपत

बागेश्वर मंदिर बागपत में चल रहे रामायण पाठ का पूर्णिमा को होगा समापन

बागपत, उत्तर प्रदेश। विवेक जैन।

बागपत- पुराना कस्बा बागपत के अति प्राचीन बागेश्वर महादेव के मंदिर में 14 जुलाई श्रावण मास के प्रथम दिन से श्री रामायण जी का पाठ चल रहा है जिसमें भक्तिमय भजनों के माध्यम से श्री रामायण जी के पाठ को सुनने और सुनाने से होने वाले फायदों के बारे में बताया जा रहा है। रामायण का पाठ करने वालों में से एक मास्टर कर्मवीर सिंह ने बताया कि रामायण में जीवन से जुड़े सभी प्रश्नों के उत्तर समाहित है। बताया कि श्रावण मास में रामायण का एक महीने का पाठ रखा गया है और आज पाठ का 25वां दिन है। प्रतिदिन दोपहर को 1 बजे से शाम को 4 बजे तक श्री रामायण जी का पाठ होता है।



बागेश्वर मंदिर बागपत में चल रहे रामायण पाठ का पूर्णिमा को होगा समापन

 पुराना कस्बा बागपत के अति प्राचीन बागेश्वर महादेव मंदिर में 25 दिनों से चल रहे रामायण के पाठ में मास्टर कर्मवीर सिंह ने बताये श्री रामायण जी पाठ को सुनने और सुनाने के फायदे

बागेश्वर मंदिर बागपत में चल रहे रामायण पाठ का पूर्णिमा को होगा समापन

पुराने कस्बे के निवासियों द्वारा 14 जुलाई श्रावण मास के प्रथम दिन से प्रारम्भ हुए श्री रामायण जी के पाठ का श्रावण शुक्ल पूर्णिमा 12 अगस्त को होगा विधि-विधान के साथ समापन



श्रावण शुक्ल पूर्णिमा 12 अगस्त को श्री रामायण जी का यह पाठ पूर्ण होगा। बताया कि हिन्दू कलेंड़र के अनुसार श्रावण मास को वर्ष के सबसे पवित्र महीनों में से एक माना जाता है। धार्मिक कार्यक्रमों के संचालन के लिए यह सबसे अच्छा समय माना जाता है। श्रावण मास के अधिपति देवता भगवान शिव है और इस महीने में भगवान श्री राम और भगवान श्री नारायण का गुणगान करने से भगवान शिव, ब्रहमा सहित समस्त देवी-देवता प्रसन्न होते है। रामायण का श्रावण के पवित्र-पावन महीने में पाठ करने से भगवान शिव और भगवान श्री विष्णु जी की कृपा भक्तों पर बनी रहती है और जन्म-मरण के भवबंधनों से मुक्ति मिलती है। 25वें दिन श्री रामायण जी पाठ में मंदिर के पंडित अनिरूद्ध मिश्रा, जीत सिंह चौहान, भंवर सिंह ब्रहमचारी, मास्टर कमलेश चौहान, अतरकली चौहान आदि श्रद्धालुगण उपस्थित थे।






Related posts

ATV NEWS CHANNEL ने आगरा के ब्यूरो चीफ सहित तीन मीडिया मित्र को दिखाया बाहर का रास्ता , वजह काफी चौंकाने वाली

jantanow

कोणार्क विद्यापीठ में दीपावली पर हुई कई प्रतियोगिताएं

VivekJain

Chhath Puja 2022 : 28 अक्टूबर से शुरू होगा पूर्वी भारत के सबसे बड़े महापर्व छठ का आगाज

jantanow

पुरवार एचीवर्स फाउंडेशन द्वारा 16वें नेशनल अवार्ड समारोह का हुआ भव्य आयोजन

jantanow

UP Ration Card Surrender ang Recovery : किसने दिया था राशन कार्ड सरेंडर करने ओर वसूली करने का आदेश

jantanow

प्रसिद्ध जैन संत सरस्वती माताजी के जन्मदिन की सभी तैयारियां पूर्ण

jantanow

Leave a Comment