February 5, 2023
Janta Now
उत्तर प्रदेशजिलाधर्मबागपतराज्य

जैन समाज के हजारों लोगो ने केन्द्र और राज्य सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा

बागपत, उत्तर प्रदेश। विवेक जैन।

आज बागपत शहर के हजारों जैन समाज के लोग अपने सबसे बड़े तीर्थ सम्मेद शिखर जी को बचाने के लिए सड़कों पर उतरे। जैन के लोगों ने अपनी बात सरकार तक पहुॅचाने के लिए एक विशाल रैली निकाली। रैली में जैन समाज के प्रत्येक घर से दिव्यांगों, बुजुर्गो, बच्चों, महिलाओं ने भाग लिया और सम्मेद शिखर जी की पवित्रता और उसकी स्वतंत्र पहचान नष्ट करने वाले केन्द्र सरकार और झारखंड़ सरकार के फैसलों की कड़ी निंदा की।

जैन समाज के हजारों लोगो ने केन्द्र और राज्य सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा

भारतीय जैन महासंघ के प्रदेश मंत्री राजा जैन ने बताया कि सम्मेद शिखर जी पर लिये गये गलत फैसलों को लेकर जैन समाज लगभग एक वर्ष से केन्द्र सरकार ओर झारखंड़ सरकार को अवगत करा रहा है और फैसलों में सुधार करने की मांग कर रहा है, लेकिन केन्द्र सरकार, केन्द्रीय पर्यावरण मंत्रालय और झारखंड़ सरकार ने अब तक इस सम्बन्ध में कोई कार्यवाही नही की है, जिससे जैन समाज में भारी आक्रोश है। प्रसिद्ध समाज सेवी शिखर चन्द जैन ने कहा कि उनकी मांग है कि सम्मेद शिखर जी को अतिक्रमण मुक्त कराया जाये और हमारे इस सबसे बड़े तीर्थ के संरक्षण के लिए सम्पूर्ण क्षेत्र को मांस-मंदिरा से मुक्त किया जाये और इस पवित्र पहाड़ पर जो भी कोई आये वह जैन धर्म के नियमों का कड़ाई के साथ पालन करे और इसकी पवित्रता को बनाये रखे।

जैन समाज के हजारों लोगो ने केन्द्र और राज्य सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा

केन्द्र और राज्य सरकार इस सम्बन्ध में जैन समाज के लोगों के साथ वार्ता कर संसद, विधान सभा और विधान परिषद से जैन तीर्थ के हित में कानून बनाये। जैन समाज बागपत के अध्यक्ष पंकज जैन ने बताया कि केन्द्रीय पर्यावरण मंत्रालय ने झारखंड़ सरकार की अनुशंसा पर सम्मेद शिखर जी तीर्थ क्षेत्र में पर्यटन और गैर धार्मिक गतिविधियों की अनुमति दी है, जिस कारण हमारे तीर्थ सम्मेद शिखर जी की पवित्रता पर भारी संकट उत्पन्न हो गया है।

जैन समाज के हजारों लोगो ने केन्द्र और राज्य सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा

बताया कि जैन समाज के सबसे बड़े तीर्थ पर पर्यटक मांस का सेवन कर रहे है, पवित्र पहाड़ और समाधियों पर जूते लेकर चढ़ रहे है और अनेकों ऐसी गतिविधियां कर रहे है, जिससे हमारे सबसे बड़े जैन तीर्थ की पवित्रता और अस्तित्व पर संकट मंड़रा रहा है। कहा कि जैन समाज की शीर्ष संस्थाये एक वर्ष से भी अधिक समय से इस सम्बन्ध में भारत सरकार और झारखंड़ सरकार के शीर्ष नेतृत्व से खेद प्रकट कर चुकी है और जैन समाज की बिना आपत्तियों के जारी किये गये राजपत्र को वापस लेने की मांग कर रही है। कहा कि सम्मेद शिखर के हित में केन्द्रीय पर्यावरण मंत्रालय द्वारा जारी राजपत्र को वापस लिया जाना अति आवश्यक है।

जैन समाज के हजारों लोगो ने केन्द्र और राज्य सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा

विशाल रैली बागपत शहर में भ्रमण करती हुई उपजिलाधिकारी बागपत के ऑफिस पर पहुॅंची जहॉ जैन समाज के लोगों ने प्रधानमंत्री और झारखंड़ के मुख्यमंत्री के नाम संबोधित ज्ञापन उपजिलाधिकारी बागपत को सौंपा। इस अवसर पर प्रहलाद जैन, पीयूष जैन, आलोक जैन, बिजेन्द्र जैन, कमल जैन, उत्तर प्रदेश सरकार से सम्मानित वरिष्ठ पत्रकार विपुल जैन, संजय सभासद, अमित जैन मिलन फोटो, अमित जैन कोयले वाले, विकास जैन, विकास जैन, वासु जैन, बबीता जैन, नीलम जैन, पूनम जैन, रूबि जैन सहित हजारों लोग उपस्थित थे।

Related posts

खेकड़ा : दुर्गा मां का भव्य दरबार रहा बालाजी रामलीला का मुख्य आकर्षण

jantanow

जालौन : सामुदायिक टॉयलेट पर अराजकतत्वों ने कराई पेंटिंग, हिमायूं, अकबर, खिलजी के नाम लिखवाए

jantanow

डीपीएस जूनियर पब्लिक स्कूल बागपत के प्रांगण में मनाया गया आजादी का अमृत महोत्सव

jantanow

खेकड़ा : रावण का किरदार देखने के लिए धार्मिक रामलीला में उमड़ा जनसैलाब

jantanow

गणतंत्र दिवस के कार्यक्रम में विजेता बना गेटवे इंटरनेशनल स्कूल

jantanow

उठो जैनियों नींद से जागो अब वक्त नहीं सोने का – विज्ञान सागर महाराज

jantanow

Leave a Comment