Janta Now
जालौनधर्म

ग्राम अभिरवा में नर्मदेश्वर महादेव की प्राण प्रतिष्ठा में उमड़े श्रद्धालु

रिर्पोट: रामनरेश ओझा 

उरई (जालौन) कदौरा विकासखंड क्षेत्र के गांव अभिरवा में दशरथ इंजीनियरिंग वर्कशॉप कदौरा के मालिक धर्मेंद्र विश्वकर्मा ने अपने पैतृक गांव में नर्वदेश्वर महादेव के भव्य मंदिर का निर्माण कराया। इस विशाल मंदिर के अंदर नर्मदेश्वर भगवान के अलावा में पार्वती जी, कार्तिकेय जी और सृष्टि के रचयिता भगवान विश्वकर्मा की भी मूर्तियों की स्थापना की गई।

दशरथ इंजीनियरिंग कदौरा के मालिक धर्मेन्द्र विश्वकर्मा ने बनवाया भव्य मंदि

भव्य मंदिर निर्माण कराने वाले धर्मेंद्र विश्वकर्मा ने बताया कि उनके पिताजी दशरथ विश्वकर्मा चारों धाम की यात्रा पर गए हुए थे। वहीं नर्मदेश्वर महादेव को सम्मान अपने साथ गांव लेकर आए और आज उनकी स्थापना करने के बाद प्राण प्रतिष्ठा का आयोजन किया गया है। जिसमें कई गांव के नाते रिश्तेदार और क्षेत्रीय ईस्ट मित्रों ने इस विशाल भव्य मंदिर में स्थापित मूर्तियों के दर्शन किए और भंडारे में प्रसाद ग्रहण कर नर्मदेश्वर महाराज का आशीर्वाद लिया।

इस मौके पर अखिल भारतीय विश्वकर्मा शिल्पकार महासभा जालौन के जिला अध्यक्ष एवं बुंदेलखंड प्रभारी महेश चंद्र विश्वकर्मा,शैलेंद्र विश्वकर्मा डा हरिमोहन विश्वकर्मा, जितेंद्र विश्वकर्मा प्रशांत शर्मा फौजी औरैया,दीपक झा,नीलकमल शर्मा,संजय झा, अयोध्या विश्वकर्मा,जगत नारायण पूर्व मंडल अध्यक्ष, रामसजीवन विश्वकर्मा,राजवीर विश्वकर्मा सभासद कदौरा, वीरेंद्र विश्वकर्मा कदौरा, श्याम बाबू विश्वकर्मा पूर्व अध्यापक, हरी सिंह विश्वकर्मा पूर्व अध्यापक सहित सैकड़ों श्रृद्धालुओं ने नर्मदेश्वर महादेव, पार्वती देवी, कार्तिकेय जी व श्रृष्टि के रचयिता भगवान विश्वकर्मा के दर्शन कर भंडारे में प्रसाद ग्रहण किया।

Related posts

Holi 2023 : होली खेलते समय कैमिकल रंगों का इस्तेमाल ना करें : डॉ विभाष राजपूत

jantanow

स्यादवाद युवा क्लब ने बडौत में किया श्री जी का अभिषेक

jantanow

वैभव अवस्थी को श्री राम सेना हिंदुस्तान के जिला अध्यक्ष पद पर मिली नियुक्ति

Vaibhav Awasthy (Astrology)

पद्मावती धाम खेकड़ा में हुयी माता रानी की भक्तिमय आराधना

Bhupendra Singh

Ganesh Chaturthi 2022 : गणेश चतुर्थी पर बड़ा बाजार बागपत में स्थापित हुई गणेश मूर्ति

jantanow

बड़ौत में धूमधाम से निकली महाराजा अग्रसेन की 41 वीं शोभायात्रा

Vivek Jain

Leave a Comment