Janta Now
Educationउत्तर प्रदेशजिलाबस्तीशिक्षा

नये शिक्षण सत्र में 15 बीतने के बाद भी बीएसए ने नही जारी किया अवैध विद्यालयों की सूची

रिपोर्ट, दिलीप कुमार

बस्ती – प्रदेश सरकार के आदेशानुसार 01 अप्रैल से समस्त सरकारी विद्यालयों का नया शिक्षण सत्र प्रारम्भ हो गया है । परिषदीय विद्यालयों का नया शिक्षण सत्र प्रारम्भ होते ही बेसिक शिक्षा अधिकारी द्वारा जिले के अवैध विद्यालयों / बिना मान्यता प्राप्त विद्यालयों की सूची जारी हो जाती है । नये शिक्षण सत्र में 15 दिन बीतने के बाद भी बेसिक शिक्षा अधिकारी अनूप कुमार तिवारी ने जिले के अवैध विद्यालयों / बिना मान्यता प्राप्त विद्यालयों की सूची जारी नही किया है ।

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार पूरे जिले में अवैध विद्यालयों / बिना मान्यता विद्यालयों के संचालन हेतु शिक्षा विभाग कार्यालय / क्षेत्रीय दलाल अपना – अपना रेट तय करने में जुटे हैं । शिक्षा विभाग कार्यालय / क्षेत्रीय दलालों के चलते अवैध विद्यालयों का संचालन पूरे वर्ष होता है । वर्ष 2010 से ही प्रदेश सरकार जिम्मेदार अधिकारियों को आदेश दिया था कि अवैध विद्यालयों का संचालन तत्काल बन्द कराये और न मानने वाले अवैध विद्यालयों के खिलाफ जुर्माना लगाकर मुकदमा दर्ज करने का भी निर्देश दिया है ।

परन्तु शिक्षा विभाग कार्यालय / क्षेत्रीय दलालों के सक्रियता से अवैध विद्यालयों का संचालन रोकना शिक्षा विभाग के लिए चुनौती बना हुआ है । अवैध विद्यालयों के संचालन में मुख्य भूमिका बीईओं ( खण्ड विकास अधिकारी ) निभा रहे हैं । बीईओं के द्वारा अवैध विद्यालयों से प्रतिमाह की मनचाहा वसूली की जाती है ।

आपको बता दें कि कप्तानगंज बीईओं प्रभात कुमार श्रीवास्तव ऐसे जिले के पहले बीईओं है जो विकासखण्ड कप्तानगंज में अवैध विद्यालयों / बिना मान्यता प्राप्त विद्यालयों का संचालन बन्द कराने में पूरी तरह फेल है बल्कि पूर्व में सील अवैध विद्यालयों का संचालन कराने में सफल है । तत्कालीन कप्तानगंज बीईओं राजेश कुमार ने जो अवैध विद्यालयों को संचालन बन्द करवाया था उस अवैध बन्द विद्यालयों का संचालन बीईओं प्रभात कुमार ने कराया है कप्तानगंज क्षेत्र में अवैध विद्यालयों के प्रबंधकों / प्रधानाचार्यों का हौसला बुलन्द है ।

बीईओं प्रभात कुमार श्रीवास्तव के द्वारा अवैध विद्यालयों के प्रति मनमानी कार्यों को लेकर जिले में तरह – तरह की चर्चाएं चल रही है । कप्तानगंज क्षेत्र में दलालों का वर्चस्व कायम है और दलालों के माध्यम से घड़ल्ले से अवैध विद्यालयों का संचालन होता है । इस सम्बंध में जानकारी के लिए मीडिया टीम ने बेसिक शिक्षा अधिकारी अनूप कुमार तिवारी के पास फोन किया तो बेसिक शिक्षा अधिकारी का फोन नेटवर्क क्षेत्र से बाहर मिला है ।

Related posts

Agra News |आगरा नगर में लंगड़े की चौकी सब्जी मंडी के पास सफाई व्यवस्था हुई बेहाल | Jantanow 

Bhupendra Singh

पोषण पखवाड़ा के अंतर्गत आंगनवाड़ी केन्द्रों पर चलाया गया जागरूकता अभियान

jantanow

मिस्टर एंड मिस किड्स इंडिया फैशनिस्टा कार्यक्रम का हुआ आयोजन

jantanow

जर्जर इमारतों को नेशनल हाइवे अथॉरिटी के अधिकारी द्वारा किया गया ध्वस्त

jantanow

समाजसेवी सुभाष रानी जैन को उनकी 14 वीं पुण्यतिथि पर किया गया याद

jantanow

कोणार्क विद्यापीठ में दीपावली पर हुई कई प्रतियोगिताएं

Vivek Jain

Leave a Comment