Janta Now
Astrologyधर्म

कार्तिक पूर्णिमा एवं गंगा स्नान 2023 कब है ? इस अवसर पर जाने विभिन्न राशियों का राशिफल- डॉ वैभव अवस्थी ज्योतिष परामर्शदाता

कार्तिक पूर्णिमा एवं गंगा स्नान 2023 कब है ?

कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष में आने वाली पूर्णिमा को कार्तिक पूर्णिमा कहते हैं। मान्यता है कि कार्तिक पूर्णिमा पर शाम के समय भगवान विष्णु का मत्स्यावतार अवतरित हुआ था। इस दिन गंगा स्नान के बाद दीप-दान का फल दस यज्ञों के समान माना जाता है। उदयातिथि के अनुसार, कार्तिक मास की पूर्णिमा इस बार 27 नवंबर, सोमवार को है।

कार्तिक पूर्णिमा 2023 शुभ मुहूर्त

कार्तिक मास की पूर्णिमा तिथि की शुरुआत 26 नवंबर को दोपहर 3 बजकर 53 मिनट पर होगी और समापन 27 नवंबर को दिन में 2 बजकर 45 मिनट पर होगा। उदयातिथि के अनुसार, इस बार कार्तिक पूर्णिमा 27 नवंबर को ही मनाई जाएगी।

कार्तिक पूर्णिमा 2023शुभ योग

ज्योतिष परामर्शदाता डॉक्टर वैभव अवस्थी के अनुसार इस विशेष दिन पर सर्वार्थ सिद्धि योग और शिव योग का निर्माण हो रहा है, जिसे पूजा-पाठ और अन्य मांगलिक कार्यों के लिए बहुत ही शुभ माना जाता है। बता दें कि इस दिन भगवान शिव, भगवान विष्णु, माता लक्ष्मी और चंद्र देव की उपासना करने से विशेष लाभ मिलता है। ज्योतिष गणना के अनुसार, इस दिन सूर्य और मंगल ग्रह वृश्चिक राशि में विराजमान रहेंगे, जिसका प्रभाव कुछ राशियों पर सकारात्मक रूप से पड़ेगा।

वृषभ राशि- इस राशि वालों को विशेष लाभ मिलने वाला है। उनका दांपत्य जीवन सुखमय बीतेगा। साथ ही धन लाभ के योग बन रहे हैं।

कर्क राशि- इस राशि वालों के लिए कार्तिक पूर्णिमा बहुत ही खास रहने वाली है। इनके अचानक धन लाभ के योग बन रहे हैं। साथ ही आपकी आमदनी में भी वृद्धि होगी।

धनु राशि- इस राशि के लोगो को कार्तिक पूर्णिमा के दिन आर्थिक लाभ मिल सकता है। साथ ही आपके नौकरी में भी प्रमोशन के योग बन रहे हैं।

कुंभ राशि- इस राशि के लोगो के लिए कार्तिक पूर्णिमा लाभकारी रहने वाली है। इस दिन आप मकान या नया वाहन आदि खरीद सकते हैं। आप अपनी सुख-सुविधाओं पर धन खर्च करेंगे।

मिथुन राशि – मिथुन राशि वालों के प्रमोशन के आसार हैं। आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। आपके कार्यों के प्रशंसा की जाएगी। परिवार में खुशियां आएंगी। किसी बड़े काम में सफलता मिल सकती है।

अन्य ज्योतिषीय गणनाओं के लिए डॉक्टर वैभव अवस्थी ज्योतिष परामर्शदाता से उनके संपर्क नंबर 9720 82 2736 पर संपर्क कर सकते हैं।

Related posts

उत्तर भारत के प्रसिद्ध जैन तीर्थ में हुई मंगल कलशो की स्थापना

jantanow

बागपत में 11 मार्च को मनेगा चन्द्रप्रभु मंदिर का 25 वां स्थापना दिवस

jantanow

धूमधाम और हर्षोल्लास के साथ मनाया गया ललियाना में इस्टर पर्व

jantanow

लाल किला मैदान में हुई भगवान पार्श्वनाथ व माँ पद्मावती की भक्ति आराधना

jantanow

Baghpat News Today : प्रजापिता ब्रहमा बाबा की 54 वीं पुण्यतिथि पर बागपत में दी गयी श्रद्धांजलि

jantanow

बालाजी रामलीला में हुआ खर और दूषण का वध

jantanow

Leave a Comment