Janta Now
जनसंघ स्थापना दिवस 2023
उत्तर प्रदेशजिलादेशबागपतराजनीति

bharatiya jana sangh |धूमधाम के साथ मनाया गया जनसंघ का स्थापना दिवस

रिपोर्ट : उत्तर प्रदेश | विवेक जैन |

जनसंघ स्थापना दिवस 2023 | जनसंघ पार्टी कब बनी

अखिल भारतीय जनसंघ का स्थापना दिवस जनपद बागपत में धूमधाम और हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। भाजपा के वरिष्ठ नेता, अमीनगर सराय के मण्ड़ल प्रभारी एवं क्षेत्रीय कार्यकारिणी सदस्य देवेन्द्र प्रमुख घिटौरा ने बताया कि अखिल भारतीय जनसंघ की स्थापना 21 अक्टूबर वर्ष 1951 को डा श्यामा प्रसाद मुखर्जी, प्रोफेसर बलराज मधोक व पंड़ित दीनदयाल उपाध्याय द्वारा दिल्ली में की गयी।

जनसंघ पार्टी का उद्देश्य क्या है : इस पार्टी का उद्देश्य देश की अखंड़ता से कोई समझौता ना करने, बहुसंख्यक हिन्दुओं के हितों से जुड़े विषयों को प्राथमिकता देने, देश को वैभवशाली और समृद्धशाली बनाने, देश के गद्दारों के विरूद्ध कार्यवाही सुनिश्चित करने व देश से भ्रष्टाचार को समाप्त करने से था। इस पार्टी का चुनाव चिन्ह दीपक था।

 

जनसंघ पार्टी का इतिहास : वर्ष 1952 में हुए लोकसभा के चुनाव में इस पार्टी ने 3 सीटें हासिल की थी। वर्ष 1975-76 में प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के आपातकाल के बाद जनसंघ सहित देश के प्रमुख राजनैतिक दलों ने मिलकर जनता पार्टी का गठन किया। देवेन्द्र प्रमुख ने बताया कि वर्ष 1980 में जनता पार्टी के टूटने पर भारतीय जनसंघ (Bharatiya Jana Sangh) के एक गुट ने अटल बिहारी वाजपेयी और लालकृष्ण आडवाणी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी ( BJP ) का गठन किया।

 

Bharatiya Jana Sangh के संस्थापक सदस्य प्रोफेसर बलराज मधोक ने अखिल भारतीय जनसंघ को चुनाव आयोग से पंजीकृत कराकर भारतीय जनसंघ को बनाये रखा। प्रोफेसर बलराज मधोक वर्ष 2016 तक अखिल भारतीय जनसंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर रहे। उनकी मृत्यु के उपरान्त डा आचार्य भारतभूषण पाण्ड़ेय को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया गया।

देवेन्द्र प्रमुख ने बताया कि अखिल भारतीय जनसंघ के स्थापना दिवस 2023 के बाद लोकसभा के चुनाव में इस पार्टी को वर्ष 1952 में 3 सीट, वर्ष 1957 में 4 सीट, वर्ष 1962 में 14 सीट, वर्ष 1967 में 35 सीट व वर्ष 1971 में 22 सीट हासिल की। वर्ष 1951 से वर्ष 1977 के बीच डा श्यामा प्रसाद मुखर्जी, मौलि चन्द्र शर्मा, प्रेमनाथ डोगरा, आचार्य देवप्रसाद घोष, पीताम्बर दास, अवसरला राम राव, आचार्य देवप्रसाद घोष, रघुवीर, आचार्य देवप्रसाद घोष, बच्छराज व्यास, बलराज मधोक, दीनदयाल उपाध्याय, अटल बिहारी वाजपेयी, लालकृष्ण आडवाणी जनसंघ के अध्यक्ष रहे।

देवेन्द्र प्रमुख ने बताया कि देश में वर्तमान में जो भारतीय जनता पार्टी देश को चला रही है उसका मूल श्यामाप्रसाद मुखर्जी द्वारा वर्ष 1951 में निर्मित भारतीय जनसंघ ही है। देवेन्द्र प्रमुख ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व भारतीय जनता पार्टी डा श्यामाप्रसाद मुखर्जी के सपनों को साकार करने में लगे हुए है और देश फिर से विश्वगुरू बनने की दिशा में आगे बढ़ रहा है।

Related posts

कंपनी हवलदार मेजर पीरू सिंह शेखावत ने बढाया राजपूत समाज का मान – अजय चौहान

jantanow

बागपत में धूमधाम के साथ मनाया गया पंड़ित जवाहरलाल नेहरू का जन्मदिन

Vivek Jain

Free Lpg Gas Cylinder कैसे मिलेगा !होली में फ्री गैस सिलेंडर का लाभ कैसे मिलेगा !

jantanow

यूपी दिवस पर युवा शक्ति पुरुस्कार से अलंकृत हुए अमन

Vedansh (Baghpat)

Baghpat News Today :रामलीला देखने के लिए उमड़ी दर्शकों की भारी भीड़

jantanow

व्यय प्रेक्षक नितिन शिवराज के पाटिल ने किया लोकसभा निर्वाचन मीडिया सेल व कंट्रोल रूम का निरीक्षण

Vedansh (Baghpat)

Leave a Comment