Janta Now
गुजरातधर्म

अमरेली : हनुमान प्रतिमा से निकले खुशी के आंसू देखिए वीडियो

गुजरात: (Babra) जैसा कि आप सभी को मालूम है कि आज 22 जनवरी 2024 के दिन अयोध्या में प्रभु श्री रामचंद्र की जन्म भूमि पर मंदिर निर्माण के बाद आज प्राण प्रतिष्ठा का भव्य कार्यक्रम हो रहा है । राम मंदिर निर्माण एवं प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव की खुशी में समग्र भारत वर्ष में सभी मंदिरों को सजाया गया है, एवं पूरे देश में उत्सव का माहौल है दीपावली मनाई जा रही है।

 

अपको बताते चले कि पूरा देश धार्मिक भजन कीर्तनों की आवाज से गूंज रहा है। लेकिन राम मंदिर निर्माण एवं प्राण प्रतिष्ठा की घड़ी पर यदि सबसे ज्यादा खुश होगा तो वह है हनुमान जी राम कथा का वर्णन हनुमान जी के नाम के बिना संभव नहीं । लंका पर आक्रमण के दौरान कई ऐसे कार्य हैं जो हनुमान जी के अलावा और कोई नहीं कर सकता था । राम के भक्तों में यदि प्रथम श्रेणी में कोई आता है तो वह हनुमान जी।

 

आज गुजरात के अमरेली जिले की बाबरा तहसील ऐसा ही वाकया सामने आया है कि वैसे तो बाबरा की मुख्य बाजार में हनुमान जी की कई छोटी-बड़ी प्रतिमा को स्थापित है । आंकड़ों के मुताबिक Amreli की Babra तहसील में तकरीबन 125 हनुमान जी के छोटे बड़े मंदिर है । घटना पर जाने से पहले हम आपको इन मंदिरों की एक वजह भी बताना चाहेंगे । बाबरा को भूतों का गांव भी कहा जाता था तब किसी साधु संत महात्मा ने कहा कि अगर आप यहां पर हनुमान जी की मूर्तियां स्थापित करने से स्नितनीय लोगों को इन भूतो से निजात मिल सकती है उसी के चलते यहां पर हर गली हर नुक्कड़ हर चौराहै पर हनुमान जी की मूर्ति एवं मंदिर देखने को मिलेंगे।

 

22 जनवरी 2024 को राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा की खुशी के मौके पर बाबरा के मारुति चौक में हनुमान जी के प्रतिमा से खुशी के आंसू बहाने का वीडियो सोशल मीडिया में आज की तरह वायरल हो रहा है। वीडियो वायरल होते ही बाबरा मारुति चौक में भक्तों का ताता लगा हुआ है लोग आकर हनुमान जी महाराज के आगे नजमस्तक हो रहे हैं और अपनी मनोकामना पूर्ति के लिए प्रार्थना कर रहे हैं।

 

लोगों का मानना है कि यह आंसू राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा की खुशी में बह रहे हैं, क्योंकि राम मंदिर से यदि कोई सबसे ज्यादा खुश हो सकता है तो वह सिर्फ हनुमान जी महाराज हो सकते हैं क्योंकि उनके रोम रोम में राम बसे हैं ।

Related posts

ऐसे उभरते “आतंकवादी” सोच को जड़ से मिटाना ही होगा..

jantanow

माँ वैष्णो देवी मंदिर पर रामचरितमानस पाठ के समापन पर विशाल भंडारा हुआ संपन्न

RamNaresh

बागपत के अजय चौहान पुरकाजी में कर रहे कावड़ियों की सेवा

jantanow

ब्रह्ममाकुमारी मेडिटेशन सेंटर बागपत द्वारा मनाया गया शिव जयंती महोत्सव

jantanow

बागपत : स्वर्णकार धर्मशाला में हुआ बालाजी का भव्य जागरण

jantanow

raksha bandhan 2023 | इस वर्ष रक्षाबंधन का पर्व कब मनाया जाएगा? जाने:- डॉक्टर वैभव अवस्थी (ज्योतिष परामर्शदाता)

jantanow

Leave a Comment